Sunday, 5 January 2014

ओ मेरे साईं

ओ मेरे साईं
ये कैसी उम्र आई
हाल भी बुरे  है
घुटनों के दर्द से
चाल भी बुरे  हैं
सर्द मौसम में करतें हैं
 दिन रात सिकाई 
ओ मेरे साईं
ओ मेरे साईं 

1 comment:

  1. excellent. pain and humour, together! the best.

    ReplyDelete